Tuesday, April 3, 2012

हौसले बुलन्‍द तो सफलता निश्चित है ।।

हौसले बुलन्‍द तो सफलता निश्चित है ।।
-------------------------------------------
जी हॉ बुलन्‍द हौसलो से सफलता की ये आश्‍चर्यजनक कहानी लिखी राखी मण्‍डी झारखण्‍ड के शेरू ने जनम से ही विकलॉंग शेरू ने अपनी मेहनत और लगन से आई सी डब्‍ल्‍यू ए की परीक्षा पास की और आज कोल इन्डियॉ ने उन्‍हे मैनेजमैन्‍ट ट्रेनर के पद पर नियुक्ति दे 876000 का सालाना पैकेज दिया है । झारखण्‍ड के जूही राखी मण्‍डी के मजदूर पिता सुभाष की तीसरी सन्‍तान शेरू के पैर पैदायशी ही छोटे रह गये थे वही एक हाथ की उगलियॉ भी पूर्ण विकसित नही हो पायी थी , इसी शारिरिक कमजोरी ने शेरू के हौसलो को नही रोक पाए सडक किनारे की रेहडी को अपना स्‍टडी रूम बना शेरू ने ये सफलता हासिल की है अब वो अपने मॉ बाप और भाई बहनो को उस धूल भरी जिन्‍दगी से निकाल खुले आसमॉन के नीचे सुकून देना चाहता है ।।
सलाम है शेरु के जज्‍बे को, सलाम है उसकी मेहनत सफलता को ।।

No comments:

Post a Comment